Skip to main content

Posts

Showing posts from June, 2016

फेसबुक डीपी

जाने से पहले हमने सोचा की क्यूँ ना एक छोटी सी ट्रिप की जाए और इस शर्त पे की जाए कि ट्रिप में DSLR वाली फोटोग्राफी नहीं होगी | फोटोग्राफी कभी कभी हम से ही हमारे लम्हों को छीन लेती है| एक ट्रिप हो जाए और उसके बाद डीपी ना बदले तो कौन सा पहाड़ टूट पड़ेगा | ऐसा नहीं है की फोटो ही नहीं खींचा, एक दो मोबाइल में खींच लिए हैं, आखिर जिंदगी का भी तो एक टाइमलाइन होता है| खैर, Puri Beach पे बैठे बैठे, फोटोबाजी पे काफी चर्चा हुई | एक कविता भी लिखी है मैंने : उन्वान है : फेसबुक डीपी | पढ़िए झोलू राम ने डीपी लगायी फेसबुक पे धूम मचाई | झट से टपके लल्लन काका "फोटो क्रेडिट तो देदे आका" | झोलू ने तुरंत मारा एडिट लल्लन कक्का को मिल गया क्रेडिट | उधर से गुजरा सोमू हलवाई " भाई, झोलू भाई कुछ ओसम (awesome) पिक है भाई |

चमन लाल ने देखी बहती गंगा कूद गया, चट होके नंगा "अरे झोलू, इ बेल्ट तो हमार लगता है हो हमको भी तनी क्रेडिट तो दो " | लगे हाथ आ टपका सोनू नाई " वाह झोलू भाई , जंच रहा है तुमपे हमरा टाई " | फिर आ बैठा केलकर मराठी " कुछ ओसम पिक है भाऊ …